Pak Vima Online Form Gujarat

Pak Vima Online Form Gujarat :- नमस्कार मेरे किसान भाइयो को, आप सभी लोग जानते है की भारत एक कृषिप्रधान देश है. हर साल अलग अलग राज्योंमे अलग अलग सभी तरह की कृषि की जाती है.

શું પાક વીમો બધા જ ખેડૂત ભાઈઓ ને જોઈએ?

Mandi Bhav Today

हर साल कुदरती आपदा के कारण भारत के किसानो को फली नुकसान उठाना पड़ता है. जैसा की बहुत बारिश होना। उनकी वजह से सीधा नुकसान किसानो की फसल पद पड़ता है. इसे संकट से राहत देने के लिए भारत की केंद्र सरकार ने प्रधानमत्री फसल बिना योजना – Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana(PMFBY) शुरू करि गयी हैं.

इस योजना को 13 जनवरी 2016 को शुरू किया गया था. इस योजना के तहत किसानो को यदि खरीफ फसल है तो 2 फीसदी प्रीमियम और रबी फसल के लिए 1.5% प्रीमियम का भुगतान करना पड़ेगा।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana(PMFBY) योजना को भारतीय कृषि बीमा कंपनी (एआईसी या AIC) चलाती है . इस योजना का मुख्य उदेश किसानो को मदद करना है जिसे किसान को जायदा से जायदा लाभ मिल सके।

कहां से लें PMFBY का फॉर्म?

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY) का फॉर्म आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से ले सकते है. ऑफलाइन में आप बैंक जाकर और ऑनलाइन में आप PMFBY के ऑफिसियल पोर्टल पे जाकर डाउनलोड कर सकते है. यदि आपको ऑनलाइन फॉर्म भरना है तो आप इस लिंक पर जा सकते है – http://pmfby.gov.in/

अगर आप ऑफलाइन फॉर्म भरना चाहते है तो आप नजदीकी बैंक में जाकर फसल बीमा योजना – Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana (PMFBY) का फॉर्म भर सकते हैं.

Sr Noफसल बमा राशि इन प्रतिसद
1खरीफ 2.0%
2रबी 1.5%
3बागवानी फसले 5%

PMFBY के लिए जरुरी दस्तावेजों लिस्ट?

  • किसान की एक फोटो
  • किसान का आईडी कार्ड (आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट)
  • अपने खेत में फसल की बुवाई हुई है, इसका सबूत पेश करना होगा.
  • फसल की नुकसान होने की स्थिति में सीधे पैसे आपके डायरेक्ट बैंक खाते में लेने के लिए एक रद्द चेक लगाना जरूरी है.

भारत सरकार ने डिजिटल इंडिया को ध्यान में रखते हुए विभिन एजेंसियों से जुड़कर एक बीमा पोर्टल शुरू किया है. इसे आप प्लेस्टोरे पर जाकर डाउनलोड भी कर सकते है. इस एंड्रॉयड के धरिये आप फसल बीमा, कृषि सहयोग और किसान समाचार जैसी माहिती आपको मिल जाएँगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *